Authors Posts by Yograj Sharma

Yograj Sharma

2 POSTS 0 COMMENTS

बदलता मौसम और उसके साथ बदलता फैशन लड़कियों और महिलाओं के अंदाज भी बदलता है। गर्मी के आते ही बाजार में हल्के और ठंडक महसूस कराते स्टाइलिश कपड़ों की बाढ़-सी आ जाती है। गर्मी के मौसम में लड़कियां कुछ ऐसा पहनें कि राहत के साथ-साथ आराम भी मिले और फैशन भी बरकरार रहे। हर कोई हट कर दिखना चाहता है। खासकर लड़कियों में एकदम अलग और यूनिक ड्रैस की डिमांड रहती है. 

गर्मियों में ड्रैस के मैटीरियल के साथ रंगों पर भी ध्यान देना जरूरी है। इस मौसम में ड्रेसेज़ हल्के रंगों के होने चाहिएं, जो आंखों को ठंडक दें। अगर फेब्रिक की बात करें तो कॉटन मिक्स सिल्क, शिफॉन, लिनन, जॉर्जेट और खादी से बने कपड़ों को पहनना चाहिए भी जो पसीना सोखे और आपको रखे फुली कूल । 

स्लिम ट्रिम फिगर वाली लड़की चाहे तो ऐसे वेदर के मुताबिक फैशन को कैरी करते हुए आड़ी लाइन वाली शॉर्ट कुर्ती और छोटी कद-काठी वाली पर आड़ी लाइन वाले कुर्ते पहने उन पर खूब खिलेगा. गर्मी से बचने के लिए ज्यादातर लड़कियां स्लीवलैस ड्रैस पहनना पसंद करती हैं, लेकिन इससे धूप में आपको सन बर्न की शिकायत हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि दोपहर में हमेशा ऐसी ड्रैसेज़ पहनें, जो कॉटन और फुल स्लीव्ज की हों। कॉटन, शिफान के कपड़े फार्मल लुक के लिए पहने जाते हैं जो अच्छे लगते हैं। गर्मियों में लिनन और जॉर्जेट के लांग स्कर्ट पहनें। कॉटन हैंडलूम और खादी ठंडक पहुंचाने वाले वाले फेब्रिक हैं जिनसे आप तपती गर्मी में भी कूल कूल महसूस करते हैं।

उम्रदराज महिलाओं को सलवार-कमीज पहनना चाहिए। खादी का कुर्ता स्टाइल से पहनें जो ढीला हो उसके साथ ही चूड़ीदार सलवार पहनें। इस मौसम में कली वाले कुर्ते अनारकली पैटर्न में अलग-अलग प्रिंट के साथ पहने जा सकते हैं। सिल्क, साटन, सिन्थैटिक, कोलेस्टर मिक्स, नायलॉन, वैल्वेट कपड़ों से बचें क्योंकि ऐसे कपड़े त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे कपड़े सिर्फ खास मौके पर ही पहनें तो ज्यादा बेहतर हैं।

गर्मी में घेरेदार कुर्ते, जॉर्जेट व शिफान पर की गई फ्लोरल प्रिंट, कॉटन सिल्क, टसर का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है। खासतौर से ब्लॉक प्रिंट, वैजीटेबल, कॉटन मिक्स लिनन जैसे फेब्रिक लड़कियां और महिलाएं ज्यादा पसंद करती हैं।

बदलता मौसम और उसके साथ बदलता फैशन लड़कियों और महिलाओं के अंदाज भी बदलता है। गर्मी के आते ही बाजार में हल्के और ठंडक महसूस कराते स्टाइलिश कपड़ों की बाढ़-सी आ जाती है। गर्मी के मौसम में लड़कियां कुछ ऐसा पहनें कि राहत के साथ-साथ आराम भी मिले और फैशन भी बरकरार रहे। हर कोई हट कर दिखना चाहता है। खासकर लड़कियों में एकदम अलग और यूनिक ड्रैस की डिमांड रहती है.

गर्मियों में ड्रैस के मैटीरियल के साथ रंगों पर भी ध्यान देना जरूरी है। इस मौसम में ड्रेसेज़ हल्के रंगों के होने चाहिएं, जो आंखों को ठंडक दें। अगर फेब्रिक की बात करें तो कॉटन मिक्स सिल्क, शिफॉन, लिनन, जॉर्जेट और खादी से बने कपड़ों को पहनना चाहिए भी जो पसीना सोखे और आपको रखे फुली कूल ।

स्लिम ट्रिम फिगर वाली लड़की चाहे तो ऐसे वेदर के मुताबिक फैशन को कैरी करते हुए आड़ी लाइन वाली शॉर्ट कुर्ती और छोटी कद-काठी वाली पर आड़ी लाइन वाले कुर्ते पहने उन पर खूब खिलेगा. गर्मी से बचने के लिए ज्यादातर लड़कियां स्लीवलैस ड्रैस पहनना पसंद करती हैं, लेकिन इससे धूप में आपको सन बर्न की शिकायत हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि दोपहर में हमेशा ऐसी ड्रैसेज़ पहनें, जो कॉटन और फुल स्लीव्ज की हों। कॉटन, शिफान के कपड़े फार्मल लुक के लिए पहने जाते हैं जो अच्छे लगते हैं। गर्मियों में लिनन और जॉर्जेट के लांग स्कर्ट पहनें। कॉटन हैंडलूम और खादी ठंडक पहुंचाने वाले वाले फेब्रिक हैं जिनसे आप तपती गर्मी में भी कूल कूल महसूस करते हैं।

उम्रदराज महिलाओं को सलवार-कमीज पहनना चाहिए। खादी का कुर्ता स्टाइल से पहनें जो ढीला हो उसके साथ ही चूड़ीदार सलवार पहनें। इस मौसम में कली वाले कुर्ते अनारकली पैटर्न में अलग-अलग प्रिंट के साथ पहने जा सकते हैं। सिल्क, साटन, सिन्थैटिक, कोलेस्टर मिक्स, नायलॉन, वैल्वेट कपड़ों से बचें क्योंकि ऐसे कपड़े त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे कपड़े सिर्फ खास मौके पर ही पहनें तो ज्यादा बेहतर हैं।

गर्मी में घेरेदार कुर्ते, जॉर्जेट व शिफान पर की गई फ्लोरल प्रिंट, कॉटन सिल्क, टसर का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है। खासतौर से ब्लॉक प्रिंट, वैजीटेबल, कॉटन मिक्स लिनन जैसे फेब्रिक लड़कियां और महिलाएं ज्यादा पसंद करती हैं।

RANDOM POSTS

Requirements for graduate qualification work; requirements for the structure and content of work General needs for final certification work Graduate work regarding the graduate...